अपनी बदतर हालात पर आज शर्मिंदा नगला तुलसी गांव

अपनी बदतर हालात पर आज शर्मिंदा नगला तुलसी गांव

अपनी बदतर हालात पर आज शर्मिंदा नगला तुलसी गांव में बना रास्ता

जी हां राजस्थान भरतपुर जिले अन्तर्गत रुपवास उपखंड स्थित जगनेर यूपी सीमा नजदीक और बयाना विधानसभा बीच बने गांव ग्राम पंचायत मालौनी अन्तर्गत बना गांव नगला तुलसी का मैन रास्ता आज फैले नालियों के गंदे पानी और कीचड़ के चलते अपनी बदतर हालात पर शर्मिंदा होता नजर आ रहा है।

अगर गांव के अन्दर हो रहे इस रास्ते की हालात को लेकर गांव के लोगों की मानें तो गांव के अन्दर करीब साल भर पहले एक ठेकेदार द्वारा खोदी गई पानी की पाईप लाईन के चलते यह रास्ता छतिग्रस्त हुआ था।

तब से लेकर आज तक यह रास्ता इसी हालात में पडा़ हुआ है।

खैर गलती पंचायत प्रशासन की हो या संम्बधित खुदाई करने वाले ठेकेदार की। गलती का खामियाजा तो आज गांव के लोगों के अन्य गांव के अंदर प्रवेश करने वाले लोगों को भुगतना पड़ रहा है।

बता दें वैसे तो आज यह गांव मिली जानकारी के अनुसार राजस्थान राज्य के एक आर ए एस अधिकारी राजेन्द्र कैन का गांव है जो वर्तमान में जयपुर में नरेगा के डिप्टी डायरेक्टर होना बताये जा रहे हैं।

करीब सौ ढेड़ सौ घरों के इस गांव में जाटव बस्ती बीच राज्य के आरएएस अधिकारी राजेन्द्र कैन का भी परिवार अपना आज रहन- सहन भी कर रहा है।

राजेन्द्र कैन बीते समय धौलपुर जिले में भी एक अधिकारी बनकर अपनी सेवा जिले को अपनी सेवा प्रदान कर चुके हैं।

अब सवाल इस बात का पैदा होता है कि जब आरएएस आईएएस अधिकारियों के गांव के रास्तों का यह हाल है तो आज आमजन के गांवों के रास्तों का क्या हाल होगा।

रिर्पोटर अमितकुमार उन्देरिया, रजौराखुर्द, धौलपुर की रिर्पोट।

About Saleem Khan