गोवर्धन के राधेश्याम सेवा सदन में श्रीगिरिराज जी सेवा मंडल द्वारा शिव महापुराण कथा महोत्सव के शुभारंभ पर निकाली गई कलश शोभायात्रा में शामिल महिला श्रद्धालु |

गोवर्धन के राधेश्याम सेवा सदन में श्रीगिरिराज जी सेवा मंडल द्वारा शिव महापुराण कथा महोत्सव के शुभारंभ पर निकाली गई कलश शोभायात्रा में शामिल महिला श्रद्धालु  |

– गोवर्धन के राधेश्याम सेवा सदन में श्रीगिरिराज जी सेवा मंडल द्वारा शिव महापुराण कथा महोत्सव के शुभारंभ पर निकाली गई कलश शोभायात्रा में शामिल महिला श्रद्धालु |

शिव त्याग, तपस्या, वात्सल्य और करूणा की मूर्ति हैं

कलश शोभायात्रा के नौ दिवसीय शिव महापुराण कथा महोत्सव शुरू

– श्रीगिरिराज सेवा मंडल दिल्ली से हजारों भक्त तलहटी पहुंचे

गोवर्धन। श्रीगिरिराज सेवा मंडल नरेला दिल्ली की ओर से राधेश्याम सेवा सदन में आयोजित नौ दिवसीय शिव महापुराण महोत्सव का शुभारंभ शनिवार को कलश शोभायात्रा के साथ हुआ। महोत्सव के शुभारंभ पर 211 महिलाएं सिर पर कलश धारण कर सज-धजकर चल रही थीं वहीं विद्वतजन मंत्र जाप कर रहे थे। भजन संकीर्तन मंडली के भजनों की धुन पर श्रद्धालु थिरकते नजर आये। महोत्सव में व्यास पुरूषोत्तम कृष्ण गोस्वामी ने बताया कि शिव त्याग, तपस्या, वात्सल्य और करूणा की मूर्ति हैं। शिव सहज की प्रसन्न होकर भक्त को मनोवांछित फल देते हैं। शिव पर भक्त स्वच्छ जल, वेल-पत्र कंटीले न खाए जाने वाले पौधों के फल व धतूरा चढ़ाते हैं। शिव ने विष को धारण किया इसलिए नीलकंठ कहलाए गये। श्रावण मास में शिव महिमा को श्रवण करना पुण्यप्रद है। इस अवसर पर सुरेश कुमार गर्ग, पंकज, रमेश, धर्मपाल, तेजपाल, बिट्टू, गोविंद सेठ, मनोज लंबरदार, श्याम सुंदर, संजू लाला, लक्ष्मण, प्रदीप गर्ग, नंदकिशोर शर्मा, विष्णु अग्रवाल, राजकुमार शर्मा आदि थे।