पानी की समस्या को लेकर फिर दिया ज्ञापन

पानी की समस्या को लेकर फिर दिया ज्ञापन

आज बामनवास उपखंड क्षेत्र के विभिन्न गांवों. ढाणीयों. मोहल्ले, कस्बों की पानी की समस्या को लेकर एक बार फिर से मनीष बामनवास जिला संयोजक एबीवीपी ने उप जिला कलेक्टर व जलदाय विभाग के अधिकारियों के खिलाफ खोला मोर्चा गर्मी के चलते आमजन को पीने के पानी के लिए दर दर भटकना पड़ रहा है और प्रशासन है कि आमजन कि समस्याओं का समाधान करने विफल हो रहा है बामनवास उपखंड क्षेत्र में राज्य सरकारों द्वारा पहले अप्रैल माह में जहां टैंकरों से आमजन को पानी सप्लाई किया जाता रहा है वहीं इस मई का महिना पुरा निकल जाने के बाबजुद भी अभी तक आमजन कि प्यास प्रशासन व सर्कार द्वारा नहीं भुजाई जा रही हैं आमजन को समय समय पर पानी मीलें इन्ही मांगो को लेकर मनीष बामनवास के नेतृत्व आमजन ने एक बार फिर से प्रशासन से अभाव ग्रस्त क्षेत्रों में जल्द से जल्द पानी के टैंकरों द्वारा पानी संचालित रूप से चालू कर वाने के लिए ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में मनीष बामनवास ने बताया है कि बामनवास उपखंड क्षेत्र के सिरसाली. भोलू का पुरा. टोडा बाली ढाणी, राधेकी. सफिपुरा. रामसिंह पुरा. सराय. झाड़ौली में सपेरों की बस्ती. अभय पुरा. राघोपुरा. ककराला. लिवाली. नहारसिंह पुरा. भगतन पुरा, गौठ, बामनवास पट्टी कला थाने पास खातेडी बाली कुंई एवं गढमोरा रोड् पर जैल्लया बाली कुंईआदि गांवों व ढाणीयों में कुओ में पानी पुरी तरह से सुख चुका है इसलिए इन गांवों के वाशींदो को पीने के पानी के लिए दर दर भटका पड रहा है इसलिए इन गांवों में टैंकरों द्वारा पानी सप्लाई किया जाए। और बामनवास पट्टी खुर्द मे खटिक मोहल्ले के निवासियों के यहां जलदाय विभाग द्वारा पाईप लाईन में प्लेट लगाने से 15से 20 घरो मे नलो से पानी नहीं आ रहा है यह जलदाय विभाग की बड़ी लापरवाही है यहा पानी को सही ढंग से डिवाईड नहीं करने की बजह से आधे मोहल्ले में पानी की सप्लाई हुई ठप इसे सुचारू रूप से चालू करने व पट्टी खुर्द के राम तलाई से भगतन पुरा तक 4 इंची कि पाईप लाईन डालने व पंचायत समिति के पास मे बैरबा बस्ती में पानी की सप्लाई प्रेशर के साथ मे देने सहित खराब पडे आ रो को ठीक कराने के लिए प्रशासन को मांग पत्र सौंपा गया है और साथ ही प्रशासन को मनीष बामनवास युवा टीम द्वारा शक्त चेतावनी दी है कि अगर उत समस्याओं का पांच दिन में समाधान नहीं किया गया तो आमजन को एक बार फिर से एक बड़ा आंदोलन करने को मजबूर होना पडेगा।

About Sudeep Sharma