प्रशासन ने स्वीकार की मांग |

प्रशासन ने स्वीकार की मांग |

प्रशासन ने स्वीकार की मांग

दोनों मृतक परिवारीय जनों पांच पांच लाख रुपये दिये जाकर मांमले की जांच धौलपुर जिले के एडीशनल एसपी राजेन्द्र वर्मा द्वारा की जायेगी।

वहीं घटनां में दोषी पुलिसकर्मियों पर दोषी पाये जाने पर निलंम्बन ही नहीं किया जायेगा बल्कि धारा तीन सौ दो के तहत मुकदमा दर्ज कर विभागीय कार्यवाही भी की जायेगी।

बता दें आज बीती दिन शुक्रवार हुई बजरी माफिया और पुलिस की झड़प मुठभेड़ में दो बजरी माफियाओं की मौंत हो गयी।

वहीं करीब आधा दर्जन लोगों का घायल होना भी बताया गया था।

एक मिली जानकारी के अनुसार।

मृतक बजरी माफियाओं मोरोली निवासी सेवक पुञ ग्यानसिंह तथा भोलू पुृञ किशनसिंह गुर्जर बताये गये हैं।

घटना के बाद घटनां को लेकर बड़ी संख्या में गुर्जर समाज के लोग जिला चिकित्सालय में एकञित हो जाने से एक तनाव का माहौल बन गया था।

बताया जाता है कि इस घटनां में पुलिसकर्मी भी घायल हुआ है।

घटनां की सूचनां पर भरतपुर रेंज आईजी लछमण गौड़ भी धौलपुर पहुंचे।

वहीं घटनां में समाज के लोगों ने धौलपुर पुलिस पर पुलिस की गोली लगने से दोनों लोगों का मरने का आरोप लगाया।

घटनां की सूचना पर पूर्व बाडी़ विधायक जसवन्त सिंह गुर्जर चिकित्सालय पहुंच गये थे।

इसी घटना क्रम के चलते आज बडी़ संख्या में मौंजूद गुर्जर समाज द्वारा की गई मांगों को धौलपुर पुलिस मृदुल कच्छावा और कलेक्टर नेहगिरी ने स्वीकार कर लिया।

About Amit Kumar Underiya