बच्चों के हाथ में किताबों की जगह थमा दी झाड़ू, कैसे बड़े शिक्षा का स्तर |

बच्चों के हाथ में किताबों की जगह थमा दी झाड़ू, कैसे बड़े शिक्षा का स्तर |

एकर:- राज्य सरकार द्वारा शिक्षा का स्तर बढ़ाने को लेकर विभिन्न प्रकार की योजनाएं चलाकर अधिक से अधिक नामांकन कर शिक्षा का स्तर बढ़ाने के लिए प्रयासरत हैI लेकिन विद्यालय में अध्यापक शायद सरकार की मंशा के साथ नहीं हैI ऐसा ही माजरा आज क्षेत्र के विद्यालयों में देखने को मिला जहां पहुंचने पर देखा गया कि बच्चे स्कूल की झाड़ू बर्तन व पोछा लगाते दिखे  वह अध्यापक मजे से विद्यालय परिसर में घूमते हुए दिखेI जब अध्यापकों से इस बारे में जानकारी नहीं ली तो बताया कि विद्यालय  सफाई को लेकर कोई बजट नहीं आता है ऐसे में क्लास रूम की सफाई व छोटे-मोटे कार्य बच्चों से कराए जाते हैंI इस पर बीईईओ. प्रथम अनिल कुमार मीणा से जानकारी चाही तो उन्होंने बताया कि प्रत्येक विद्यालय पर सफाई को लेकर बजट शिक्षा विभाग द्वारा दिया जाता है

About Deepak Giri