मुडिया मेला गोवर्धन में पत्रकार से की गई पुलिस कर्मी द्वारा अभद्रता ।

मुडिया मेला गोवर्धन में पत्रकार से की गई पुलिस कर्मी द्वारा अभद्रता ।

मुडिया मेला गोवर्धन में पत्रकार से की गई पुलिस कर्मी द्वारा अभद्रता

कबरेज के दौरान की गई पत्रकार से बदसलूकी

मामला गोवर्धन थाने के दानघाटी मंदिर का

न्यूज

गिरिराज महाराज के दर्शन करने के लिये लाखो भक्त गोवर्धन पहुच रहे है तो वही पुलिस कर्मीयो का रबैया ठीक नजर नही आ रहा है

मुड़िया मेला में सीएम योगी की बेलगाम पुलिस

बाइक पर पानी लेके घर लौट रहे राजीव तिराहै पर पुलिस कर्मी व सब इंस्पेक्टर ने पत्रकार से की बदसलूकी

सी एम योगी की पुलिस। राजकीय गुरू पूर्णिमा मेले मै बेलगाम पुलिस कर्मियो का अमानवीय चेहरा आये दिन सामने आ रहा है।

पत्रकारों से करते हैं पुलिस कर्मी अभद्रता

गोवर्धन :  उत्तर प्रदेश की योगी सरकार भले ही सूबे के पुलिसकर्मियों को कितना ही नसीहत का पाठ पढ़ा ले  लेकिन पुलिस है कि मानती नहीं । मथुरा के गोवर्धन में 12 जुलाई से शुरू हुए पांच दिवसीय राजकीय गुरु पूर्णिमा मेले में आये पुलिसकर्मियो का अमानवीय चेहरा बार-बार परिक्रमार्थियो व स्थानीय लोगों की परेशानी का सबब बना है । ड्यूटी में लगे पुलिसकर्मी आईजी आगरा जोन ए सतीश गणेश के विनम्रता के साथ ड्यूटी देने के नसीहत के पाठ को विसराकर अपनी अमानवीय कार्यशैली का प्रदर्शन कर ही दे रहे है । शनिवार को ड्यूटी में लगे पुलिसकर्मियों द्वारा मेला ड्यूटी में आए नौहझील प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के सरकारी चिकित्सक के साथ अभद्र व्यवहार कर दिया था । हालांकि प्रकरण चिकित्सको से जुडा था तो उच्चाधिकारियो के हस्तक्षेप के बाद आपसी सहमति से उक्त प्रकरण रफा-दफा हो गया।

मगर रविवार को कस्बा के ही जतीपुरा परिक्रमा मार्ग पर ड्यूटी पर लगे एक सिपाही द्वारा इतना अमानवीय  व्यवहार पेश किया कि बार-बार स्थानीय लोगों सहित परिक्रमार्थी आक्रोशित होते दिखे।  उक्त सिपाही का बेलगाम डंडा गरीब रिक्शा चालकों पर पशुओं की तरह बरसता रहा तथा रिक्शा चालक चोटिल होकर के मार खाकर श्रद्धालुओं को उतार कर भागते दिखे। यह वाक्या भी उस समय का था जब दिन मै धूप की वजह से पयिक्रमार्थी श्रद्धालुओ की भीड न के वरावर रहती है। हैवानियत का रूप लिए उक्त सिपाही रिक्शा चालक को देखकर ही इस कदर हैवानियत पर उतर आता था कि वह उससे कोई भी चेतावनी दिए बगैर ही डंडा प्रहार करने लगता । उक्त पुलिसकर्मी रिक्शा में बैठे ना तो बुजुर्ग और बच्चों को ही देख रहा था और ना ही किसी परेशान परिक्रमार्थी को ही देख रहा था। बस उसे तो डंडा भांजने से मतलब था। सिपाही की लाठियों से कई रिक्शा चालक घायल हो गए । छोटू नामक गरीब रिक्शा चालक के हाथ मे डंडे से चोट लग गयी तथा उसके रिक्शे के पहिये की तीनो बालबाडी निकाल कर पंचर कर दिया। वेलगाम सिपाही रिक्शो को पंचर भी कर कर रहा था। घटना की सूचना पर पहुंचे मीडियाकर्मी ने उक्त सिपाही की हैवानियत भरी कार्यप्रणाली को कैमरे में कैद कर जब उससे मेला की ब्रीफिंग के दौरान आईजी आगरा जोन ए सतीश गणेश द्वारा पढ़ाए गए नैतिकता के पाठ के विषय में पूछा तो वह अपने को इसी कार्यप्रणाली के आदेश मिलने की वकालत करने लगा। इतना ही नहीं इस कार्रवाई के दौरान उक्त सिपाही ने अपनी नाम पट्टिका भी वर्दी पर नहीं लगाई थी। मीडिया कर्मी द्वारा उसकी इस हरकत के विषय में पूछने पर वह मीडिया कर्मी से भी अभद्र व्यवहार पर उतर आया दानघाटी मंदिर के पास लगे पुलिस कर्मी ने जमकर पत्रकार से अभद्रता की और मीडिया कर्मी को कबरेज भी नही करने दी ।