मॉब लिंचिंग के दौरान गिरफ्तार करने को लेकर ग्रामीणों ने पुलिस प्रशासन के खिलाफ की जमकर नारेबाजी

मॉब लिंचिंग के दौरान गिरफ्तार करने को लेकर ग्रामीणों ने पुलिस प्रशासन के खिलाफ की जमकर नारेबाजी

बामनवास तहसील क्षेत्र के सभी ग्रामीण लोगों और महिलाओं ने मिलकर दिया ज्ञापन!आज सुबह से ही ग्रामीण क्षेत्र से लोगों का मुख्यालय बामनवास मैं दिन भर आना-जाना रहा और 2 तारीख की रात कुख्यात मोटरसाइकिल चोर की संदिग्ध हालत में मृत्यु होने एवं मॉब लिंचिंग में बेकसूर लोगों को पकड़ने को लेकर ग्रामीण जनता ने दिन भर पुलिस पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर अपना गुस्सा दिखाया,और कहा की जो निर्दोष लोग पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर जबरन उनको बल के जरिए गिरफ्तारी दिखा कर नाजायज बेकसूर लोगों को शामिल किया गया है!जबकि उनका घटना को लेकर कोई संबंध नहीं है फिर भी पुलिस द्वारा गलत धारा लगाकर कुछ लोगों की गिरफ्तारी कर ली गई है!उनको बाइज्जत बरी करवाने को लेकर आज उपखंड मुख्यालय पर तहसील क्षेत्र के सभी लोगों का जमावड़ा रहा ज्ञापन देने आए बड़ीला के पूर्व सरपंच तेजराम मीणा,बनवारी सरपंच सफीपुरा,अनंत बड़ीला, अभिषेक सफीपुरा,विमला मीणा एसटी मोर्चा अध्यक्ष चित्तौड़गढ़, बनवारी लाल मीणा,मनीष एबीपी जिला संयोजक,रूप सिंह मीणा बामनवास,विक्रम मीणा बामनवास,घनश्याम झाडोली, राकेश फुलवाड़ा,सुरेश बामनवास, अमित रानीला,धर्म सिंह मीणा,रामकेश बारबाल, विजेंद्र माली बड़ीला सरपंच आदि लोगों ने उपखंड मुख्यालय पर दिन भर हड़ताल के रूप में उपस्थिति देकर तहसीलदार जगदीश प्रसाद माहिज को ज्ञापन के माध्यम से अवगत कराया की अगर प्रशासन ने हमारी मांगे नहीं मानी तो हम आंदोलन को उग्र रूप देंगे और सारी जिम्मेदारी स्वयं प्रशासन की होगी ऐसा ज्ञापन के माध्यम से बताया उसे झूठी f.i.r. को वापस लेने के लिए सर्व समाज के लोग आज दिनांक-6अगस्त,मंगलवार को पूरी बामनवास मेन मार्केट से अपील करते हुए अभिषेक सफीपुरा,अनंत बड़ीला,रूपसिंह मीणा बामनवास व विमला मीणा एसटी मोर्चा चित्तौड़गढ़ ने कहा कि कल से बाजार बंद रखना है? सभी लोगों ने जनसंपर्क किया और कल पूर्णरूपेण बामनवास बंद रहेगा,ऐसे कठोर निर्णय इन सभी लोगों ने मिलकर आज लिया प्रशासन के खिलाफ एफ आई आर को वापस लेने को ले कर रहा,जबकि बह चोर बामनवास की बाइक चोरी कर भग रहा था और रास्ते में अपराधी की संदिग्ध अवस्था में लाश का मिलना कुख्यात अपराधी खुशीराम जिस की संदिग्ध अवस्था में मृत्यु उसके बाद पुलिस द्वारा खुद एफ आई आर दर्ज करना डेड बॉडी,परिजनों द्वारा नहीं ले जाना,व पुलिस कस्टडी में ही मृतक का दाह संस्कार करना,इतना होने के बाद भी पुलिस प्रशासन बामनवास द्वारा नाजायज तरीके से चार लोगों को गिरफ्तार करना क्या साबित करना होगा …?

About Sudeep Sharma