हिंडौन सिटी बिजली विभाग के कर्मचारियों की अभद्रता के खिलाफ चल रहे धरने की आला अधिकारियों ने नहीं ली सुध

हिंडौन सिटी बिजली विभाग के कर्मचारियों की अभद्रता के खिलाफ चल रहे धरने की आला अधिकारियों ने नहीं ली सुध

सोलह दिन से चल रहे धरने की जिला प्रशासन ने नहीं ली सुध।

बिजली विभाग की उदासीनता आई सामने।

ग्रामीणों का सरकार के खिलाफ आक्रोश।

हिंडौन उपखंड के गांव कारवाड मीणा में बस स्टेंड के पास बिजली कर्मियोंं के तबादले करने सहित चार सूत्री मांगो को लेकर तीन फरवरी से चल रहे किसानो के अनिश्चितकालीन धरने का सोलहवे दिन भी जिला प्रशासन ने सुध नहीं ली।

जिससे ग्रामीणों का आक्रोश सरकार के खिलाफ बढता जा रहा है।

किसान संघर्ष समिती के तहसील उपाध्यक्ष शिवसिंह जगरबाड ने बताया की किसानो की चार सूत्री मांगो को लेकर तीन फरवरी से चल रहे धरने में सोमवार को राजेश पायलट किसान संगठन के राष्टिय टीम के सदस्य हरिओम गुर्जर प्रदेश सह सचिव पिन्टु कोटापुरा व जिला अध्यक्ष विनोद कुमार मीणा, विजेंद्र मच्या शामिल रहे और किसानो के साथ दिनभर धरने पर बैठकर कहा की जब तक किसानो की मांगे पूरी नही हो जाती जब तक धरना जारी रहेगा।

किसानो को हमारा पूरा समर्थन है, सरकार को किसानो की समस्याओ का समाधान करना होगा, लापरबाह कर्मचारियों के खिलाफ कार्यवाही होनी चाहिए।

बिजली विभाग की हठ धर्मिता के चलते धरना सोहलवे दिन भी जारी रहा। धरने में मलुआराम, शीशराम मीणा, दयाल मीना, वेदप्रकाश, रामनिवाश, विकास लीलोटी,  गजराज सहित कई किसान सामिल रहे |
किसान संघर्ष समिती के तहसील उपाध्यक्ष शिवसिंह जगरबाड ने बताया की किसानो के धरने में रोजाना अब किसान संघर्ष समिती के साथ आस पास के गांवो के 11 -11किसान वारी वारी से धरने पर बैठकर धरने में शामिल रहेंगे।

इस संबध में सहायक अभियंता केएल मीणा का कहना है,कि कर्मचारियों को हटाने का मामला निगम का है,अन्य मांगों को विभाग स्तर पर समाधान कर दिया जाएगा।
संवाददाता-कलमुद्दीन खान

About Kalmuddin khan

रिपोर्टर गंगापुर पोर्टल, संवाददाता दैनिक नवज्योति , Cmn news rajsthan

Leave a Reply