सावधान जरा बचकर चलना कहीं टकरा नां जाये ये आवारा जानवर

सावधान जरा बचकर चलना कहीं टकरा नां जाये ये आवारा जानवर

जरा संभलकर चलना कहीं टकरा नां जाये ये जानवर।

जी हां यह शब्द हैं आज उन वाहन चालकों के हैं जो आज जिला धौलपुर के सैंपऊ बाजार बीच होकर गुजर रहे है।
क्योंकि आज सैंपऊ कस्बा बाजार में गौ वंश के रुप में आवारा जानवरों का भारी तादात में आये- दिन विचरण होता देखा जा रहा है।
जो आवारा जानवर अपने विचरण के दौरान लड़ते झगड़ते गुजरते वाहन चालकों को भी अपनी चपेट में ले रहे हैं।
जहां अगर बाजार में घूमते इन आवारा जानवरों पर देखा जाये तो कस्बा उपखंड प्रशासन की भी कोई नजर नहीं टिकती दिख रही है।

हलवाई फल सब्जी बिक्रेताओं की दुकानें इनके बाजार में पनपने की जड़।

बाजार में घूमते विचरण करते इन आवारा जानवरों की बाजार में बनी हलवाई सब्जी फल बिक्रेताओं की दुकानें आज इनके बाजार में पनपने की जड़ बन रही हैं।
जहां हलवाईयों की दुकानों के सामने रखे झूठें समोंसे कचौरियों की पत्तल आदि दौनियों के कचरा पाञ।
जहां से इन आवारा जानवरों को खाने को ही नहीं मिल रहा बल्कि बाजार में इनके पनपानें की आदत को भी बढावा दे रहा है।
इसके साथ ही बाजार में बने सब्जी और ठेल बिक्रेता भी इनको सडे गले बचे फल सब्जियां आदि डालकर इनको बाजार में पलने का हीं नहीं बाजार में आज इनकी संख्या बढाने का कारण भी बन रहे हैं।

अमित कुमार उन्देरिया रजौराखुर्द की रिर्पोट।

About Amit Kumar Underiya

Leave a Reply