शराब के ठेके पर प्रिंट से अधिक पैसे लेकर की जा रही है लूट, आबकारी मौन |

शराब के ठेके पर प्रिंट से अधिक पैसे लेकर की जा रही है लूट, आबकारी मौन |

कुछ दिन पहले सेल्स मैनो ने ग्रामीणों को पीटा।

शराब ठेकेदार द्वारा कराई गई फायरिंग

 धौलपुर में संचालित शराब के ठेको पर सरेआम नियमों की अवहेलना करते हुए आम लोगों से लूट की जा रही है देखा जा रहा है। शहर में शराब ठेके पर ठेकेदार की मनमानी के चलते उनके सेल्समैनों के द्वारा खरीदारों को प्रिंट रेट से अधिक रेट में शराब बेची जा रही है। कुछ दिन पहले कासिमपुर गांव में अधिक दाम वसूलने का लोगों ने विरोध भी किया गया है लेकिन ठेकेदार के कहने पर सेल्समैन ओं ने ग्रामीणों को पीटा, और कहते हैं कि तुझे जो करना है कर हम तो इसी प्रकार से मनमानी करेंगे और प्रिंट रेट से अधिक दामों पर सप्लाई करेंगे क्योंकि हमारी सेटिंग तो ऊपर तक है नियमों की माने तो इस ठेके पर ना तो रेत लिस्ट लगी है।और ना ही साबधानी सूचक बोर्ड।ठेकेदार के द्वारा सरेआम की जा रही नियमों की अवहेलना से आम लोगों लूट की जा रही है और सरकार प्रशासन का इस ओर कोई ध्यान नहीं है ऐसा लगता है कि उनके पास भी इसका कुछ पैसा जाता हो अधिक दामों पर बिक रही शराब ।

शहर में निर्धारित समय पर दुकानें बंद होने के बावजूद कई स्थानों पर धड़ल्ले से से शराब की अवैध बिक्री हो रही है इस कारण हर चौक चौराहे पर शराबियों का जमघट लगा रहता है शराबियों के बढ़ते उत्पाद के कारण आम लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है आम लोगों का सड़क पर चलना दुर्लभ हो गया है उल्लेखनीय है की कस्बे में भले ही शराब की दुकान है 8:00 बजे बंद हो जा किन शराब का अवैध व्यापार शहर के कई कोनों में चलता रहता है कश्मीर में कई स्थानों पर खुलेआम शराब की अवैध बिक्री हो रही है जानकार सूत्र बताते हैं की दुकानों से कुछ लोग शराब लेकर शराब में पहुंच रहे हैं और रात 8:00 बजे बाद अवैध शराब की बिक्री शुरू हो जाती है जागरूकता लोगों की माने तो शहर के अन्य स्थानों पर बेखौफ शराब बेची जा रही है इतना ही नहीं इस अवैध शराब के एवज मैं दोगुनी रकम भी वसूली जा रही है शराब की दुकानों पर रेट लिस्ट भी नहीं लगी है प्रिंट रेट से अधिक ₹50 की अतिरिक्त राशि वसूली की जाती है इस हिसाब से ओवर रेट के के जरिए 10 से ₹15000 की अधिक राशि वसूली जा रही है

धौलपुर जिला आबकारी अधिकारी संजय दुर्बल का पक्ष जानने के लिए दो बार कॉल किया कॉल रिसीव नहीं हुआ ।

About Rahul Sharma

Leave a Reply