राष्ट्रपति के नाम दिया इच्छा मृत्यु का ज्ञापन |

राष्ट्रपति के नाम दिया इच्छा मृत्यु का ज्ञापन |

शहर में एक पत्नी से पीड़ित पति ने राष्ट्रपति से इच्छा मृत्यु की मांग की है।लाखेरी शहर के अब्दुल अजीज वल्द अब्दुल रहमान निवासी रामधन चौराहा लाखेरी जिला बूंदी में महामहिम राष्ट्रपति को भेजी शिकायत पत्र में बताया की उसका निकाह 25 वर्ष पूर्व सलमा बानो वल्द अब्दुल गफूर निवासी संजय नगर भीमगंजमंडी कोटा में हुआ ।प्रार्थी 1997 में सऊदी अरब काम करने चला गयावहां से जो भी कमाता था वह सारी कमाई अपनीपत्नी सलमा बानो के खाते में भेज दिया करता था इधर उस कमाई के रुपयों से सलमा बानो ने कोटा मेंमकान बनवाती रही मेरे सऊदी जाने के बाद सलमा बानो पीहर में ही रहती थी मुझे बिना बताये मेरे द्वारा भेजे गए रुपयों का दुरुपयोग करती रही वर्तमान मेंमेरी मेहनत की कमाई से बनाये गए कोटा के मकान में मेरे तीनो बच्चो के साथ रह रही हैं । 2005 मैं पीड़ित पति छुट्टी पर आया और अपने बीवी बच्चो के पास कोटाके मकान पर गया तो पीड़ित की पत्नी ने यह कह कर मकान से निकाल दिया की इस मकान में तुम्हारा कोईलेना-देना नहीं है तुम यहाँ से चले जाओ पत्नी से पीड़ित पति चुपचाप लाखेरी अपने रिश्तेदारो के पास आकर रहने लगा और पीड़ित की छुट्टी पूरी होने पर वापस सऊदी अरब काम करने चला गया इस दौरान पत्नी सलमा बानो ने पीड़ित पति पर भरण पोषण का पारिवारिक न्यायालय कोटा में मुक़दमा दर्ज करा दिया । विदेश में कार्य करने की वजह से मुकदमे बाजी से होने वाली परेशानियों से बचने के लिए 4 लाख सालाना देने हेतु राजी नामा भी कर लिया और जब तक विदेश में पीड़ित नौकरी करता रहा तब तक राजीनामे के अनुसार पत्नी को 4 लाख रुपये सालाना भेजता रहा लेकिन अब पीड़ित पति का कार्य विदेश में पूरा हो गया तो वह वापिस अपने मुल्क अपने शहर लाखेरी वापिस आ गया और अब बेरोजगार भटक रहा है। इतनी बड़ी रकम देने की स्थिति में नहीं है। पीड़ित अब मानसिक तनाव से ग्रस्त है और बीमार है ऊपर से कोर्ट के चक्कर लगा लगा क़र परेशान हो चूका है पीड़ित ने विदेश में जाकर जो भी रुपए की कमाई की थी वो तो सब पत्नी को इस उम्मीद में भेजी थी की बाकि की जिन्दगी अपने बीवी बच्चो के साथ सुकून से बिताऊंगा लेकिन इस पत्नी ने मुझे दर-दर का भिखारी बना कर छोड़ दिया है और जो बाकि कसर रह गई जो कोर्ट में पूरी कर दी।

About Kayam Hussain

Leave a Reply