शादी-ब्याह कार्यक्रमों में खुलेआम हो रहा बालकों के बाल अधिकारों का शोषण |

शादी-ब्याह कार्यक्रमों में खुलेआम हो रहा बालकों के बाल अधिकारों का शोषण |

एक ओर राजस्थान प्रदेश में ही नहीं पूरे भारत देश में सरकार तरह तरह के प्रचार प्रसार कर बच्चों के मजबूत भविष्य को लेकर इनकी शिछा उपलब्धि पर आज बिशेष जोर देते हुये इनको शिछा का पाठ हांसिल करा रही है।

लेकिन वहीं दूसरी ओर आज कल छेञ में चल रहे ब्याह-शादी कार्यक्रमों में हलवाई टैंट और बैंड़ मालिक आज नाबालिग बच्चों के बाल अधिकारों का खुलेआम शोषण कर आज अपना साई बंन्धी का काम चला रहे हैं।

इतना ही नहीं शादी- ब्याह कार्यक्रमों में ये हलवाई बैंड और टैंट क्राकरी मालिक अपनी साई बंधाई कार्यक्रम में कार्यक्रम की साग पूड़ी ही नहीं शिकवा रहे बल्कि बैंड के लाईट झाड़ और रोड़ गमला उठवाकर कार्यक्रम में खाने की झूंठी पलेटें और बर्तन कढा़ई भगौना तक मजवा नजर आ रहे हैं।

जहां जिन पर आज नां तो कोई जिला प्रशासन की नजर जा रही है और नाहीं किसी कोई सम्बधित विभागीय कर्मचारी- अधिकारी।

कार्यक्रमों में नाबालिग बच्चों के हो रहे शोषण को लेकर कहानी सच जानने जब हमारे जिला धौलपुर सैंपऊ रिर्पोटर अमित कुमार उन्देरिया रजौराखुर्द ने एक छेञ में बीती रात हुये ब्याह कार्यक्रम में जाकर जाना तो हकीकत एक चौंकाने वाली निकली।

कहानी की हकीकत में एक बालक कार्यक्रम की खाने की झूंठी पलेटें माजता धोता नजर आया तो वहीं कार्यक्रम में हलवाई के पास बैठा एक नाबालिग बालक लोगों के लिये साई की पूडी और साग सेकता नजर आया।

इस बारे जब हमारे रिर्पोटर ने हलवाई टैंट मालिक से पूछा तो मालिक ने इस बारे में कोई जबाब देना उचित नहीं समझा।

About Amit Kumar Underiya

Leave a Reply