शिक्षा विभाग के पोर्टल पर विद्यालय का अभी तक नहीं हो सका नाम दर्ज।

शिक्षा विभाग के पोर्टल पर विद्यालय का अभी तक नहीं हो सका नाम दर्ज।

विभागीय अधिकारियों की लापरवाही के चलते अधर में लटका परौआ विधालय

 

नए सत्र को लेकर विधार्थी पडे असमंजस में।

राजस्थान राज्य में कांग्रेस की सरकार बनते ही सरकार द्वारा सत्र 2018- 19 में राजस्थान के 12 राजकीय माध्यमिक विद्यालयों को राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालयों में क्रमोन्नत करने के लिये सरकार द्वारा विभाग को आदेश प्रदान किए गए थे। सरकार द्वारा आदेश की उस लिस्ट में स्थानीय छेञीय बाडी़ विधायक गिर्राज सिंह मलिंगा की अनुशंसा पर बौहरे बद्री प्रसाद राजकीय माध्यमिक विद्यालय परौआ को भी क्रमोन्नत की सूची में शामिल किया गया था। जिसकी विभाग द्वारा आदेश क्रमांक प 4(6) शिक्षा-1/2016 पार्ट 8 मार्च 2019 राजस्थान के 12 विद्यालयों की लिस्ट जारी की गई थी। जिसमें बौहरे बद्री प्रसाद राजकीय माध्यमिक विद्यालय परौआ भी शामिल था लेकिन विभाग द्वारा राजस्थान शिक्षा विभाग के पोर्टल पर अभी तक विद्यालय का नाम मिली जानकारी के अनुसार आज तक नहीं जोड़ा गया है। और नांही विधालय में स्टाफ की नियुक्ति की गई जबकि अन्य विद्यालयों में विभाग द्वारा स्टाफ की नियुक्ति भी जा चुकी है बताया जाता है। वहीं विधालय की समस्या के चलते नए सत्र को लेकर विद्यार्थी व अभिभावक असमंजस की स्थिति में बने हुयें है, खबर को लेकर विद्यालय इंचार्ज महेश शर्मा ने बताया विद्यालय से नाम संशोधन रिपोर्ट सीबीईओ सैंपऊ को 12 मार्च 2019 मैं भेज जा चुकी है। साथ ही 3 ऐच्छिक विषयों की रिपोर्ट बीसीईओ सैंपऊ को 19 मार्च 2019 को भेज दी गई लेकिन आज तक विद्यालय का नाम पोर्टल पर नहीं जुड़ा है।

About Amit Kumar Underiya

Leave a Reply