मुस्लिम महिलाओं हक व अधिकार के लिए बना दारुल क़ज़ा

मुस्लिम महिलाओं हक व अधिकार के लिए बना दारुल क़ज़ा

आज अलीगंज रोड मदरसा इन अमिया गंगापुर सिटी में ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड द्वारा दारुल क़ज़ा(मुस्लिम पंचायत द्वारा सुलह) का उदघाटन किया गया जिसमें देश के अलीम ओर मुफ़्तियों ने हिस्सा लिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के जिम्मेजार हजरत मौलाना ने बताया कि ये गंगापुर सिटी में 72 वा दारुल क़ज़ा का कायम किया ओर बताया कि आज मुस्लिम लोग घर के विबाद को कोर्ट में ले जाते है जिससे लोगो का पैसा और समय बर्बाद होता है और घर के हालात और बदतर होते जाते है ओर येसब लोगो की इल्म की कमी से होता है अब दारुल क़ज़ा (पंचायत में सुलह) से लोगो को समजाइस के जरिये समाधन किया जाएगा इसमे आपसी घरों के विबाद व मुस्लिम महिलाओं के निकाह ,तलाक व उनके अधिकार को कुरान की रोशनी से इसका समाधान किया जाएगा ।

 

मदरसे के मौलानाइमामुद्दीन साहब ने बताया कि मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के जिम्मेदार हजरत मौलाना अतीक अहमद साहब ने दारुल क़ज़ा के काज़ी मुरशिद साहब का साफा पहनकर इस्तेकबाल किया व काज़ी जी को अपने पद की शपत भी दिलाई गई जिससे कुरान व हदीस की रोशनी में व लोगो के साथ फैसले किये जायें व समजाइस की जाए

 

गंगापुर के अलाबा कई शहरो से भी लोगो ने भी आज यहा शिरकत की ।

Comments (1)

Leave a Reply