किसी सेना की अपेक्षा शिक्षा स्वतंत्रा के लिए एक बेहतर सुरक्षा है, मनमोहन चंदेल तालुका विधिक सेवा समिति बामनवास

किसी सेना की अपेक्षा शिक्षा स्वतंत्रा के लिए एक बेहतर सुरक्षा है, मनमोहन चंदेल तालुका विधिक सेवा समिति बामनवास

बामनवास राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय तालुका विधिक सेवा समिति बामनवास अध्यक्ष मनमोहन चंदेल द्वारा कैंप का आयोजन कर छात्र-छात्रा एवं अध्यापक और ग्रामीण एवं बच्चों के बीच अधिकारों की सुरक्षा को लेकर जैसे कि घरेलू हिंसा दहेज प्रथा निषेध महिलाओं को संपत्ति के अधिकार शिक्षा जैसे कई अधिकारों के बारे में समझाते हुए शिविर के माध्यम से नवीन जानकारियां चंदेल द्वारा छात्र-छात्राओं अध्यापक और ग्रामीणों को समझाया इस दौरान अध्यक्ष चंदेल द्वारा कहा गया कि शिक्षा का अर्थ वह चीज को जानना होता है कि आपको पता नहीं चंदेल द्वारा बताया गया कि शिक्षा तो वह जलन अग्नि के समान शिक्षा को बताया जिसके माध्यम से असंभव चीज को भी संभव बनाने की उम्मीद रखने वाला एक जीवन का महत्वपूर्ण टाइम या फिर शिक्षा से वंचित रहने वाले शिक्षा के प्रति जागरूक करने का और शिक्षा हमारा स्वतंत्र अधिकार है इसको अधिक से अधिक बच्चों को दिलवाए जिससे कि वो देश की सेना से अपनी बराबरी या फिर उससे ऊपर निकल सकें साथी बताया कि उदाहरण के रूप में कोई भी जिसने सीखना छोड़ दिया चाहे उसकी उम्र 20 या 80 साल की हो कोई भी उसे ज्ञान प्राप्त करना जारी रखा है वह भी असल में युवा है चाहे उसकी उम्र 20 या 80 साल की हो कोई भी जिसने ज्ञान प्राप्त करना जारी रखा है वह असल में युवा है ऐसी सभी बातें आज आयोजन कैंप के अंदर मनमोहन चंदेल द्वारा एक व्यक्ति पुरुष शिक्षित होता है तो एक पुरुष ही शिक्षित होता है परंतु यदि एक महिला शिक्षित होती है तो पूरी पीढ़ी शिक्षित होती है इस अवसर पर महान विद्वान श्री जिम रोहन के कोटेशन से भी बालिकाओं को अवगत कराया कि एक औपचारिक शिक्षा आपको जीवन यापन करने योग्य बनाती है परंतु शिवम शिक्षा आपको सफल बनाती है इस मौके पर राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय बामनवास की छात्राओं शिक्षण गण तालुका विधिक सेवा समिति के सचिव श्री प्रकाश मीणा भी साथ में ही रहे यह आयोजन माननीय सर्वोच्च न्यायालय माननीय राजस्थान उच्च न्यायालय तथा माननीय जिला एवं सेशन न्यायालय सवाई माधोपुर के निर्देशानुसार की पालना में चेतना शिविर के आयोजन बामनवास राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में रखा गया

About Sudeep Sharma

Leave a Reply