भाजपा का कांगेस सरकार के खिलाफ का धरना प्रदर्शन

भाजपा का कांगेस सरकार के खिलाफ का धरना प्रदर्शन

राज्य में बिगड़ती कानून व्यवस्था,विशेषकर अनुसूचित जाति पर हो रहे अत्याचार के संबंध में भाजपाइयों ने जिला कलेक्टर कार्यालय के बाहर धरना प्रदर्शन कर जिला कलेक्टर को राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा।

भाजपाइयों ने सुबह 11 बजे से 2 बजे तक कांग्रेस के खिलाफ धरना प्रदर्शन किया।पदाधिकारियो एवं वरिष्ठ नेताओं ने धरना स्थल पर सम्बोधित किया।

धरना स्थल पर मुख्य वक्ता पूर्व कैबिनेट मंत्री राजपाल सिंह शेखावत,पूर्व जिलाध्यक्ष व विधायक मानसिंह गुर्जर,पूर्व संसदीय सचिव जीतेन्द्र गोठवाल,जिला अध्यक्ष सुरेश चंद जैन,वरिष्ठ नेतागण एवं पदाधिकारी ने सम्बोधित किया।

भाजपाइयों ने कांगेस के खिलाफर जमकर नारेबाजी करते हुए रैली के रूप में जिला कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा।

ज्ञापन में बताया कि भारतीय जनता पार्टी राजस्थान का प्रतिनिधिमंडल आपका ध्यान प्रदेश में विगत जनवरी 2019 से आज अगस्त 2019 तक पिछले 8 महीनों में घटित विभिन्न श्रेणीयों के अपराधों की ओर आकृष्ट करना चाहता है।ऐसा लगता है प्रदेश में कानून का राज्य समाप्त हो गया है,अपराधी बेखोफ घूम रहे हैं,आमजन में भय व्याप्त है,एक श्रंखलाबद्ध एवं सुनियोजित तरीके से अपराधों में निरन्तर बढ़ रहे हैं।

कानून व्यवस्था के नाम पर प्रदेश में घोर अराजकता की स्थिति है यह प्रतिनिधिमंडल आपका ध्यान प्रदेश में अनुसूचित जाति वर्ग के साथ हुए अत्याचारों कि ओर आकृष्ट करना चाहता है अपराध के निरन्तर बढ़ते आंकड़े में सर्वाधिक अपराधों एवं उत्पीड़न का शिकार अनुसूचित जाति वर्ग हुआ है।

जहाँ एक और मौजूद राज्य सरकार के गठन के बाद दिसम्बर 2018 के बाद राज्य में अनुसूचित जाति वर्ग के खिलाफ अपराधों का ग्राफ़ तेजी से बढ़ा है और जून 2019 तक अनुसूचित जाति के लगभग 3121 मामले संगीन अपराधों में दर्ज/घटित हुई हैं।

15 दिसंबर 2018 को अलवर में दलित दूल्हे को घोड़ी से उतारने और बरातियों से मारपीट प्रारम्भ हुई।

मई 2019 में थानागाजी गैंगरेप जिसकी गूंज शर्मनाक तरीके से पूरे भारत में हुई और राजस्था को शर्मशार होना पड़ा।

16 जुलाई 2019 को अलवर के टपूकड़ा क्षेत्र में एक दलित युवक हरीश जाटव को उमरशेदठेकेदार व उसके साथियों ने हत्या कर दी।स्थानीय पुलिस ने प्रकरण में कोई कार्यवाही नहीं की।एक महीने तक अपराधी खुलेआम घूमते रहे।अपराधियो ने मृतक हरीश जाटव के पिता रतिराम जाटव को मुकदमा वापिस लेने के लिए प्रताड़ित किया ।स्थानीय पुलिस ने पीड़ित परिवार को कोई संरक्षण एवं सुरक्षा प्रदान नही की।पिता रतिराम जाटव ने पुलिस व अपराधियो के आतंक से परेशान होकर स्वतंत्रता दिवस के दिन जहर खा कर आत्महत्या कर ली।

इस दौरान भाजपाइयो के प्रतिनिधि मंडल ने मांग की ऐसी धटनाओं की फास्ट ट्रैक में तत्काल निरुत्तर सुनबाई कर 3 माह में निस्तारण करें।

एवं थानागाजी जैसी लोमहर्षक घटनाओं में छतिपूर्ति के मापदंड तय किये गए उसी अनुरूप शेष धटनाओं को भी समान रूप से पीड़ित परिवार को सरकारी नौकरी,छतिपूर्ति तत्काल दी जाये।

ज्ञापन देने वालों में पूर्व कैबिनेट मंत्री राजपाल सिंह शेखावत,पूर्व जिला अध्यक्ष व विधायक मानसिंह गुर्जर,पूर्व संसदीय सचिव जीतेन्द्र गोठवाल,जिला अध्यक्ष सुरेश चन्द जैन,आशा मीना,राजेंद्र मीना,मनोज बंसल,सुशिल दीक्षित,जमनालाल बैष्णव,कुलदीप जैमिनी,दामोदर शर्मा,हरिओम पटेल,मनोज कुनकटा,भवानी मानपुर सहित अनेको भाजपा कार्यकर्ता मौजूद रहे।

About Manoj Kunkata

जिला प्रभारी,भाजपा,सवाई माधोपुर, जिला अध्यक्ष अखिल भारतीय युवा गुर्जर महासभा सवाई माधोपुर, प्रदेश महासचिव राष्ट्रीय वीर गुर्जर सेना राजस्थान

Leave a Reply