60 प्रतिशत नरेगा कार्यो पर लगेगी महिला मैट

60 प्रतिशत नरेगा कार्यो पर लगेगी महिला मैट

60 प्रतिशत नरेगा कार्यो पर लगेगी महिला मैट-नेहा गिरि

5 श्रमिकों के समूह को दिया जावेगा काम।

निर्धारित कार्य पूर्ण करने वाले समूह श्रमिक को मिलेंगें 199 रूपये प्रतिदिन।

नरेगा कार्यों पर केवल महिला श्रमिक ही पिलाएंगी पानी

दूसरे के एवज में कार्य करने व कराने वालों के विरूद्ध होगी कार्यवाही। 

धौलपुर 18 मई, राज्य में ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज विभाग की समस्त योजनाओं में धौलपुर जिले की रैंकिंग चौथे स्थान पर रही है। राज्य में जिले को प्रथम स्थान पर लाने के लिए जिला कलक्टर नेहा गिरि द्वारा इन योजनाओं की समीक्षा बैठक 16 मई को ली गई। 

बैठक के दौरान मनरेगा योजना अन्तर्गत मूल्यांकन के 10 बिन्दूओं की समीक्षा करते हुए जिला कलक्टर नेहा गिरि द्वारा निर्देशित किया कि निर्धारित कार्य को पूरा करने पर प्रतिदिन 199 रूपये दिए जाने का प्रावधान है। नरेगा श्रमिकों द्वारा निर्धारित कार्य पूर्ण नहीं करने से मजदूरी कम प्राप्त होती है। विकास अधिकारियों, सहायक अभियन्ताओं, कनिष्ठ तकनीकी सहायकों को निर्देश प्रदान किए गए कि श्रमिकों को 5-5 के समूह बनाकर कार्य दिया जावें एवं कार्य के पृथक-पृथक नापकर मजदूरी का भुगतान किया जावें। श्रमिकों का भुगतान हर परिस्थिति में प्रावधान अनुसार टी-8 दिवस में श्रमिकों के बैंक खाते तक पहंुच जाना चाहिए। इसके लिए जिला एवं ब्लॉक स्तर पर सहायक लेखा अधिकारी/कनिष्ठ लेखाकारों को भुगतान की स्थिति की प्रतिदिन मॉनिटरिंग हेतु लगाया गया है। मनरेगा योजना अन्तर्गत वर्ष 2017-18 में स्वीकृत समस्त कार्यो पूर्ण कराए जाकर कार्यो को एमआईएस पर दर्ज करने की कार्य योजना बनाकर सभी कार्य 30 जून तक पूर्ण करा लिए जाए।

अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जन जाति, महिलाओं एवं आर्थिक रूप से पिछड़े परिवारों को प्राथमिकता देते हुए कार्यो पर लगाने का जिला में 60 प्रतिशत लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसके लिए विकास अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि इन परिवारों को अधिक से अधिक रोजगार देने के लिए सभी ग्राम पंचायतों के ग्राम विकास अधिकारी एवं कनिष्ठ सहायकों को इन परिवारों से संपर्क कर फार्म नं. 6 की पूर्ति करवाकर रोजगार प्रदान करने हेतु आदेशित किया जाए तथा प्रतिदिन इनके द्वारा पूर्ति कराये गए आवेदनों की सूचना ली जाए साथ ही यह भी सुनिश्चित किया जाए कि प्रत्येक जॉब कार्ड पर आवश्यक रूप से एक परिवार को 100 दिवस का रोजगार प्रदान किया जाए । सभी नरेगा कार्याें पर पानी पिलाने का कार्य केवल महिला श्रमिकों से ही कराया जाए। इसके अतिरिक्त कार्य स्थल पर श्रमिकों के लिए दवाईयाँ, छाया, पानी की व्यवस्था करने तथा नागरिक सूचना पट्ट लगाने के लिए निर्देश दिए।

मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिला परिषद एवं अतिरिक्त जिला कार्यक्रम समन्वयक मनरेगा शिवचरण मीना ने बताया कि राज्य में ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज की योजनाओं की माह मार्च 2019 में किए गए कार्याें की समीक्षा में धौलपुर जिला प्रथम स्थान पर रहा। राज्य सरकार की फ्लैगशिप योजनाओं सहित मनरेगा, आवास योजना, स्वच्छ भारत मिशन योजना, एवं अन्य योजनाओं को सम्मिलित करते हुए धौलपुर जिले की रैंकिंग गत माह की नौवीं रैंकिंग से चौथे स्थान पर रही है। समग्र योजनाओं में जिले को प्रथम स्थान दिलाने के लिए बैठक में दिए गए समस्त निर्देशों की पालना हो, सुनिश्चित किया जायेगा एवं लक्ष्य के अनुरूप कार्य नहीं करने वाले अधिकारी एवं कर्मचारियों के विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही की जावेगी।

About Rahul Sharma