fbpx

EWS के नहीं बन रहे प्रमाण पत्र

EWS के नहीं बन रहे प्रमाण पत्र

सवाई माधोपुर उपखंड बामनवास 1 अप्रैल 2019

EWS के नहीं बन रहे प्रमाण पत्र

उपखंड प्रशासन द्वारा आर्थिक रूप से कमजोर परिवार के लिए 11 पेज का फार्म जारी किया गया है जो बहुत ही विस्तृत है एवं बाजार में 15 से ₹20 वसूले जा रहे हैं आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों से जबकि राज सरकार द्वारा केवल 3 पन्नो का आवेदन पत्र में दिए गए हैं |

मकान एवं आवासीय भूमि बाबत रिपोर्ट विकास अधिकारी से चाही जा रही है कृषि भूमि बाबत रिपोर्ट तहसीलदार से चाही जा रही है जबकि पटवारियों द्वारा समस्त पत्र के भूमि की रिपोर्ट फार्म पर की जा रही है, सारी रिपोर्ट करवाने के उपरांत भी तहसीलदार द्वारा भूमि एवं भवन प्लाट की वैल्यूएशन रिपोर्ट चाही जा रही है जिसका आवेदन पत्र में कहीं उल्लेख नहीं है तहसीलदार द्वारा अनावश्यक रूप से अतिरिक्त रिपोर्ट चाही जाकर आवेदकों को परेशान किया जा रहा है जिससे आवेदकों को आर्थिक हानि के साथ समय का भी दुरुपयोग करना पड़ रहा है |

राज सरकार द्वारा 1 जनवरी 2015 से नोटरी का प्रमाणीकरण हटा दिया गया है एवं स्वयं प्रमाणित हस्ताक्षर युक्त दस्तावेज ही मान्य होंगे जबकि उपखंड प्रशासन द्वारा इस आवेदन पत्र मैं नोटरी प्रमाणित आवश्यक किया गया है उपखंड प्रशासन द्वारा राज्य आदेशों से हटकर रिपोर्ट मांगी जा रही है जिससे आवेदक अनावश्यक परेशान हो रहा है |

जबकि EWS का फॉरमैट सरकार द्वारा 3 पेजों का ही दिया गया है और भूमि एवं भवन की कीमत का इस प्रमाण पत्र से कोई वास्ता नहीं है, प्रमाण पत्र का उद्देश मात्र है पर आधारित है फिर भी उपखंड अधिकारियों द्वारा EWS के छात्रों को परेशान किया जा रहा है |

Leave a Reply