fbpx

पर्युषण पर्व का उत्तम मार्दव धर्म मनाया

पर्युषण पर्व का उत्तम मार्दव धर्म मनाया

पर्युषण पर्व का उत्तम मार्दव धर्म मनाया

सवाई माधोपुर, दिगम्बर जैन समाज द्वारा मनाये जा रहे पर्युषण पर्व के दूसरे दिन उत्तम मार्दव धर्म तथा जैन धर्म के 7वें तीर्थकर भगवान सुपाश्र्वनाथ का गर्भ कल्याणक मनाया गया।

वर्षायोग समिति के प्रवक्ता प्रवीण जैन ने बताया कि उत्तम मार्दव धर्म के मांगलिक अवसर पर अहिंसा सर्किल, आलनपुर स्थित दिगम्बर जैन अतिशय क्षेत्र चमत्कारजी में गणिनी आर्यिका विशुद्धमति संसघ के सानिध्य में जिनेन्द्र भगवान का अभिषेक किया गया। मनोज जैन एवं सुरेश जैन ने संयुक्त रूप से शांतिधारा कर जिनेन्द्र देव को चंवर ढुलाये। मनोज-बीना पाटनी, सुरेश-अनिता गोधा ने दिगम्बर जैनाचार्यो के चित्रों का अनावरण कर उनके समक्ष दीप प्रज्वलित किये गये। विशेष रूप से उत्तम मार्दव धर्म व दशलक्षण मण्डल विधान की संगीतमय पूजन कर मंडल पर 12 अघ्र्य समर्पित किये।

इसी क्रम में शहर स्थित सुपाश्र्वनाथ दिगम्बर जैन भसावड़ियान मन्दिर में अशोक चैधरी, प्रशान्त कासलीवाल एवं पवन बाकलीवाल के सान्निध्य में जिनेन्द्र भगवान का अभिषेक किया गया। इस दौरान चित्रा कासलीवाल, शकुन्तला चैधरी एवं शशी कासलीवाल, मैना जैन, स्वेता कासलीवाल, रेखा चैधरी एवं निधि बाकलीवाल उपस्थित रहे।

इस अवसर पर आर्यिका विजितमति ने उत्तम मार्दव धर्म पर प्रकाश डालते हुए कहा कि उत्तम जाति, कुल, बल, ऐश्वर्य, रूप, तप, विद्या और धन का कभी अंहकार नहीं करना चाहिए। अहंकार भक्त और भगवान के बीच दीवार का काम करता है। मार्दव धर्म मिथ्या मान को मिटाकर व्यक्ति को विनम्र बनाता है। व्यक्ति को महान बनने के लिए अहंकार छोड़ विनय धारण कर जीवन को सार्थक करना चाहिए।

About Pankaj Sharma

Manager at Gangapur City Portal

Leave a Reply